Kakanmath Temple Morena History Hindi | रात में हो जाता है वीरान, भूतों ने बनाया था इसे

Kakanmath Temple Morena History Hindi | ककनमठ मंदिर का इतिहास: चम्बल(Chambal) का 1100 साल पुराने यह आज भी अधूरा सा ही दीखता है. मुरैना(Morena) से 20 km दूर सिहोंनिया में बने इस 1100 साल से भी ज्यादा पुराना ककनमठ मंदिर(Kakanmath Mandir) में जिसका निर्माण स्वयं भगवन शिव(Lord Shiv) ने कराया था, उसमे आज भी रात में कोई नहीं रुकता. कहते हैं कि इस मंदिर(Temple) का निर्माण स्वयं भगवन शिव(Lord Shiva) के आदेशानुसार उनके गणों ने किया था.Kakanmath Temple Morena HistoryKakanmath Temple Morena History Hindi | रात में हो जाता है वीरान, भूतों ने बनाया था इसे

एक रात में मंदिर(Temple) पूरा नहीं बन सका तो अधूरा(Incomplete) ही छोड़कर चले गए शिवगण(Ghosts). मंदिर का निर्माण(Construction) पूरी रात भर चला परन्तु रातभर में निर्माण(Construction) पूरा नहीं हो पाया और दिन निकल(Sun Rised) आया और मंदिर(Temple) को अधूरा(Incomplete) ही छोड़कर चले गए शिवगण(Ghosts).

Top Most Mysterious Places in world | Duniya Ke Adbhut Rahasya in Hindi

मंदिर के शीर्ष(Top) पर बहुत भारी पत्थर(Rock) रखा है जिसका वजन कई टनों(Tons) के बराबर होगा, जिसे देख कर पता चलता है कि यह किसी इंसान(Human) द्वारा किया गया कार्य(work) नहीं है.

Kakanmath Temple Morena History Hindi | रात में हो जाता है वीरान, भूतों ने बनाया था इसे

इस मंदिर के निर्माण से जुडी कई कहानियां(Stories) प्रचलित हैं, कोई कहता है कि भगवन श्री कृष्ण(Lord krishna) जी के आदेशानुसार पांडवों(Pandav) ने इस मंदिर का निर्माण करवाया था.

एक और कहानी है जो इस मंदिर(Temple) के बारे में प्रचलित(Famous) है, कहते हैं कि रानी कक्नावती(Kaknamati) की भक्ति से प्रसन्न होकर भगवान शिव(Lord Shiv) ने भूतों को इस मंदिर(Temple) के निर्माण का आदेश(Order) दिया था और भूतों(ghost) ने ही इसे एक रात में बनाया था और जब एक रात में निर्माण(Construction) कार्य पूरा करते-करते दिन निकल आया तो मंदिर(Temple) को अधूरा(Incomplete) ही छोड़ कर चले गए.

Kakanmath Temple Morena History Hindi | रात में हो जाता है वीरान, भूतों ने बनाया था इसे

रानी ककनावती(Queen Kaknawati) की भक्ति की कहानी

इतिहासकारों(Historians) के अनुसार राजा सोनपाल(King Sonpal) की रानी ककनावती भगवन शिव(Lord Shiv) की बहुत ही बड़ी भक्त थी परन्तु उनके आसपास कोई भी शिव मंदिर(Shiv Temple) नहीं था.

रानी ककनावती(Queen Kaknawati) की भक्ति को देख राजा सोनपाल(King Sonpal) ने रानी के लिए शिव मंदिर(Shiv Temple) बनवाने का निर्णय लिया.

रानी ककनावती(Qeen Kaknawati) की भक्ति से प्रसन्न होकर भगवन शिव(Lord Shiv) ने अपने भक्त के लिए मंदिर बनवाने के लिए भूतो(Ghosts) को आदेश दिया.

भूतों द्वारा मुख्य मंदिर(Temple) तो बन गया लेकिन मंदिर के आसपास के सहायक मंदिरों का निर्माण(Construction) कार्य शुरू होते ही दिन निकल आया(Sun Rised) और भूतगण(Ghosts) निर्माणकार्य(Construction) अधूरा(Incomplete) हो छोड़कर चले गए.

Kakanmath Temple Morena History Hindi | रात में हो जाता है वीरान, भूतों ने बनाया था इसे

मंदिर की विशेषताएं

ककनमठ मंदिर(Kakanmath Temple) का निर्माण करीब 11वीं शताब्दी(11th Century) में हुआ था.

इस मंदिर के निर्माण(Construction) में गारे-चूने का उपयोग(Use) बिलकुल भी नहीं किया गया है.

ककनमठ मंदिर(Kakanmath Temple) का निर्माण पत्थरों(Rocks) को एक के ऊपर एक रखकर संतुलित(Balance) करके बनाया गया है.

इतने वर्षों में मंदिर ने कई प्राकर्तिक आपदाओं(Natural Disaster) का सामना किया परन्तु मंदिर(Temple) ज्यों का त्यों खड़ा है. Kakanmath Temple Morena History Hindi | रात में हो जाता है वीरान, भूतों ने बनाया था इसे

2 Replies to “Kakanmath Temple Morena History Hindi | रात में हो जाता है वीरान, भूतों ने बनाया था इसे”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *